Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Wednesday, 4 May 2022

खसरा जांच के लिए एम्स,पटना होगा जाँच : सिविल सर्जन

 खसरा जांच के लिए एम्स,पटना होगा जाँच : सिविल सर्जन



एम्स में खसरा बीमारी की होगी कन्फर्मटरी लैब जांच

कार्यपालक निदेशक पत्र जारी कर दिए निर्देश 

•जिले से सैंपल को कंफर्मेशन  के भेजा जाएगा एम्स


 मधुबनी: सरकार स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ करने की दिशा में सतत नए अध्याय जोड़ रही है । स्वास्थ्य के क्षेत्र में सरकार जहां हर बीमारी और रोगियों को लेकर गंभीर है. वहीं खसरा(मीजल्स) जैसे संक्रामक बीमारी के लिए सरकार की ओर से नई पहल की गई है। मीजल्स जैसे संक्रामक बीमारी की जांच हेतु पहले राज्य में लैब नहीं था, जिससे मीजल्स रोग प्रबंधन में चिकित्सकों को परेशानी होती थी।  लेकिन स्वास्थ्य विभाग की पहल से इस समस्या को दूर कर लिया गया है। अब मीजल्स का लैब कन्फर्मटरी टेस्ट एम्स, पटना में किया जा सकेगा.  

 सिविल सर्जन डॉ सुनील कुमार झा  ने बताया कि मधुबनी जिले  से संदिग्ध रोगियों के सेंपल एम्स भेजे जाएंगे और फिर उसकी जांच की जाएगी। आमजनों को ध्यान में रखते हुए यह जांच पूरी तरह से निःशुल्क की जाएगी। पूर्व में मीजल्स की जाँच सुविधा उपलब्ध नहीं होने के कारण लक्षणों के आधार पर ईलाज होता था।  लेकिन जाँच सुविधा उपलब्ध होने से ससमय मीजल्स की पहचान हो सकेगी एवं रोग का अधिक प्रभावी प्रबंधन हो सकेगा। 


 डॉक्टर झा  ने बताया कि विभाग शिशु मृत्यु दर में कमी लाने के प्रति गंभीर है। इसको ध्यान में रखते हुए नियमित टीकाकरण कार्यक्रम में मीजल्स के टीके को भी शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य,अधीक्षक एवं सिविल सर्जन को मीजल्स के सभी संभावित केसेस के सैंपल एम्स, पटना में लैब कन्फर्मेशन के लिए भेजने हेतु निर्देशित किया गया है. ताकि मीजल्स रोगियों को यथाशीघ्र चिकित्सकीय लाभ प्राप्त हो सके.

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages

फ्लोर टेस्ट के आदेश को शिवसेना ने SC में दी चुनौती, तत्काल रोक की मांग महाराष्ट्र सियासी संकट : फडनवीस ने राज्यपाल से की फ्लोर टेस्ट की मांग, एकनाथ शिंदे ने सोमवार की देर रात बुलाई आपात बैठक, उदयपुर : हत्यारोपियों के साथ कन्हैयालाल का समझौता कराने वाला पुलिसकर्मी सस्पेंड जमानत पर रिहा लालू प्रसाद की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, चारा घोटाले के इस मामले में सजा बढ़ाने की हुई मांग, सीबीआई ने कहा - कम मिली है सजा | बिहार- निकाय चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारी, मतदाता सूची के प्रकाशन को लेकर जारी किया कार्यक्रम