Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Wednesday, 10 August 2022

मधुबनी जदयू में नीतीश की वापसी पर हर्ष

 न्यूज़ डेस्क : मधुबनी


बधाई देने नेताओं संग कार्यकर्ताओ की टीम पटना रवाना 



मधुबनी जनता दल यू कार्यालय कर्पूरी सभागार चंद्रा कॉम्प्लेक्स मे महागठबंधन की सरकार बनने एवं नीतीश कुमार के आठवीं बार मुख्यमंत्री बनने को लेकर जश्न का माहौल है। इस खुशी के अवसर पर नेताओं व कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी जाहिर किया।

आपको बता दे की जनता दल यूनाइटेड ने भाजपा से नाता तोड़कर महागठबंधन के साथ सरकार बनाने जा रही है जिसका मुख्यमंत्री के रूप मे नीतीश कुमार एवं उपमुख्यमंत्री के रूप मे तेजस्वी यादव का पटना मे शपथ ग्रहण समारोह होना है। इसके साथ ही महागठबंधन मे शामिल दलो के कई विधायकों का मंत्री बनना तय है। इससे उत्साहित जदयू मधुबनी जिलाध्यक्ष सत्येन्द्र कामत, किसान एवं सहकारिता प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष विनोद कुमार सिंह कुशवाहा, जिला महासचिव पप्पू सिंह के साथ कार्यकर्ताओं की टीम शपथ ग्रहण मे शामिल होने एवं सीएम नीतीश कुमार को बधाई देने के लिए पटना रवाना हो चुके है। पटना रवाना होने के पूर्व पार्टी कार्यालय मे हर्ष व्यक्त करते हुए जदयू जिलाध्यक्ष सत्येन्द्र कामत एवं किसान एवं सहकारिता प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष विनोद कुमार सिंह कुशवाहा ने कहा की देश के पहले हमारे मुख्यमंत्री है, जो आठवीं बार मुख्यमंत्री की शपथ ले रहे है। पार्टी कार्यालय मे जश्न मनाने के बाद हमलोग पटना रवाना हो रहे है। उनको विधिवत माला पहनाकर स्वागत करेंगे। विकास के लिए वे तत्पर रहते है, इसलिये उन्हें विकास पुरुष कहते है। वे विकास के कई काम कर चुके है, जिसे जनता द्बारा सराहना किया जा रहा है। इसके साथ जदयू प्रदेश सचिव सीमा मंडल ने कहा पहले एनडीए के साथ गठबन्धन मे मंदिर-मस्जिद की बातें होती थीं, अब महागठबंधन के साथ सरकार बनने पर बिना रुकावट विकास की बात होगी।

वहीं जदयू जिला महासचिव इफ़तेखार जिलानी ने कहा की बिहार मे गैर भाजपा सरकार के संकल्प के तहत महागठबंधन के साथ सरकार बनाने पर सीएम नीतीश कुमार बधाई के पात्र है। उनको हमलोग धन्यवाद अदा करते हूए पार्टी कार्यालय मे जश्न मना रहे है।


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot
शाहनवाज हुसैन को सुप्रीम कोर्ट से राहत, FIR दर्ज करने के आदेश पर लग गयी रोक। बिहार में जूनियर डॉक्टर्स हड़ताल पर, स्टाइपेंड बढ़ाने की मांग। मिथिला मखाना को मिला जीआइ टैग