Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Sunday, 26 June 2022

युवती की पेट का सर्जरी कर प्रसव कराया झोला छाप डॉक्टर

 युवती की पेट का सर्जरी कर प्रसव कराया झोला छाप डॉक्टर 



झंझारपुर अनुमंडल मुख्यालय के ठीक सामने मिथिला नर्सिंग होम में एक युवती की सिजेरियन ऑपरेशन पर प्रसव कराया गया। रविवार को सूचना प्रकाश में आते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम सबसे पहले नर्सिंग होम पहुंचकर घटना के सत्यता का तहकीकात की। उसके बाद पीड़ित की मां की शिकायत पर झंझारपुर थाना के पुलिस अधिकारी युवती का फर्द बयान लेने पहुंची है।  मामला काफी संगीन दिख रहा है।  पीड़ित लड़की भैरवस्थान थाना क्षेत्र के मेहथ पंचायत स्थित एक गांव की रहने वाली है। नर्सिंग होम के बेड पर कराह रही बेटी को देखने रविवार की सुबह उसकी मां और पिता पहुचे। बेटी की हालत देख कर मा बाप का बुरा हाल हो गया है। पीड़ित की माँ ने रो-रोकर बताया कि उनकी पुत्री का तबीयत खराब रहती थी। बगल के ही एक लड़के ने झांसा देकर अवैध संबंध बनाया था।  तबीयत खराब रहने के कारण उक्त युवक की भाभी उनकी लड़की को डॉक्टर से दिखाने की बात कह कर साथ ले गई। रविवार सुबह जानकारी मिली कि उनकी लड़की का मिथिला नर्सिंग होम में सिजेरियन ऑपरेशन करवाया गया। जहां बच्चा मरा हुआ पैदा हुआ या पहले ही मर चुका था यह जानकारी अब तक अप्राप्त है। नर्सिंग होम में भर्ती कराने आई कथित भाभी भी गायब है। डॉक्टर नर्स भी गायब है। जब इस बात की जानकारी फैलने लगी तो सिविल सर्जन द्वारा नर्सिंग होम की जांच करने के लिए गठित टीम के प्रभारी चिकित्सक डॉ कुणाल मिश्रा अपने एक कर्मी को जांच के लिए भेजा। डॉक्टर कुणाल ने बताया कि लगभग 15 दिन पहले इस नर्सिंग होम की जांच की गई थी। नर्सिंग होम के विरुद्ध सी एस को प्रतिवेदन भेजा गया था। आज पता लगा कि बी एन शर्मा नाम के किसी सर्जन ने सर्जरी की। स्वास्थ्य विभाग के टीम को नर्सिंग होम संचालक नर्सिंग होम पर नहीं मिले। इसके अलावे नर्स और स्टाफ भी नही मिले।  डॉ कुणाल ने बताया कि नर्सिंग होम की फिर से जांच की जाएगी और कड़ी कार्रवाई की जाएगी।  खबर की जानकारी लेने जब संवाददाता नर्सिंग होम पर पहुंचे तो एक दो कर्मी वहां मौजूद थे।  उक्त युवती के अलावा रीता देवी नाम एक मरीज भी भर्ती थी।  अस्पताल के स्टाफ धीरे-धीरे गायब होने लगे। किसी ने अपना नाम नहीं बताया।  रविवार की शाम जब पुलिस अधिकारी पीड़ित का फर्द बयान लेने पहुंचे तो पीड़ित मरीज के परिजन के अलावा अस्पताल में एक भी कर्मी मौजूद नहीं थे। इधर सिजेरियन ऑपरेशन कर अस्पताल के डॉक्टर और सभी कर्मी फरार थे। इस संबंध में झंझारपुर थानाध्यक्ष राशिद परवेज ने बताया कि अधिकारी फर्द बयान लेने गए हैं।  फर्द बयान के आधार पर उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी। लोगों में चर्चा है कि नर्सिंग होम वाले किस तरह अविवाहित युवती का बिना उसके अभिभावक की मौजूदगी में सिजेरियन ऑपरेशन कर दिए हैं और मामला प्रकाश में आने के बाद सभी नर्सिंग होम का झोला छाप डॉक्टर समेत सभी कर्मचारी छोड़कर फरार हो गया। इधर

सिविल एसडीओ शैलेश कुमार चौधरी ने बताया कि पीएचसी प्रभारी को नर्सिंग होम की विधिवत जांच का निर्देश दिया गया है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages

बिहार में 8वीं बार बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर और तेजस्वी यादव ने डिप्टी CM पद पर शपथ ली, 25 को बहुमत सिद्ध करेगा महागठबंधन। नीतीश ने 2024 के लिए विपक्ष से एकजुट रहने की अपील की।