Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Friday, 10 June 2022

पुलिस के सहयोग से चाइल्ड लाइन ने रुकवाया बाल विवाह

 न्यूज़ डेस्क : मधुबनी


बाल विवाह कानूनी अपराध है। इसके बाद भी लोग बाल विवाह करने से बाज नहीं आते हैं ।मधुबनी जिला में एक और बाल विवाह का मामला सामने आया है। चाइल्ड लाइन ने पुलिस के सहयोग से लदनिया थाना के अंतर्गत गांव दोनवारी कुमरखत में एक बाल विवाह रुकवाया है। लड़की के परिजनों को उसके बालिग होने तक उसका विवाह न करवाने को भी कहा है। चेतावनी दी कि यदि इससे पहले विवाह करवाया तो कार्रवाई होगी। परिजन ने अपनी 15 साल 4 महीने की बेटी की शादी तय कर दी। आज शुक्रवार  को उसकी शादी होनी थी और शादी की तैयारियां चल रहीं थीं। सूचना पर चाइल्ड लाइन की टीम ने गांव में पहुंचकर बालिका की शादी रुकवा दी। इस मौके पर चाइल्ड लाइन सब सेंटर जयनगर के टीम मेंबर सविता देवी बताई कि कोई भी व्यक्ति अपनी नाबालिग बेेटे या बेटी की शादी न करें। ऐसा करना अपराध है। यदि ऐसी सूचना मिलती है, तो टीम दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करेगी।उन्होंने बताई कि लड़की के पिता से बॉन्ड बनवाया गया है। इसमें उसने स्वीकार किया कि उसकी पुत्री की शादी की उम्र नहीं हुई है। शादी की उम्र होने के बाद ही पुत्री की शादी करेगा अन्यथा पुलिस उस पर कार्रवाई करेगी।। इसकी खबर 1098 के माध्यम से चाइल्ड लाइन को दी गई थी।इस मौके पर पंचायत के मुखिया नवीन कुमार, लदनिया थाना पुलिस की टीम सहित अन्य मौजूद थे।


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages

फ्लोर टेस्ट के आदेश को शिवसेना ने SC में दी चुनौती, तत्काल रोक की मांग महाराष्ट्र सियासी संकट : फडनवीस ने राज्यपाल से की फ्लोर टेस्ट की मांग, एकनाथ शिंदे ने सोमवार की देर रात बुलाई आपात बैठक, उदयपुर : हत्यारोपियों के साथ कन्हैयालाल का समझौता कराने वाला पुलिसकर्मी सस्पेंड जमानत पर रिहा लालू प्रसाद की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, चारा घोटाले के इस मामले में सजा बढ़ाने की हुई मांग, सीबीआई ने कहा - कम मिली है सजा | बिहार- निकाय चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारी, मतदाता सूची के प्रकाशन को लेकर जारी किया कार्यक्रम