Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Friday, 18 February 2022

अब कूरियर के माध्यम से पहुंचाई जाएंगी दवाइयां व मेडिकल किट

 


स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ करने के लिए ग्रीन चैनल प्रोग्राम के तहत  में शुरू किया गया अभियान

केयर इंडिया के सहयोग से जिले में ग्रीन चैनल कार्यक्रम की हुई शुरुआत

सभी एएनएम और कूरियर को दिया गया है प्रशिक्षण


मधुबनी, 18 फरवरी। जिले के सभी प्रखंडों में अब स्वास्थ्य सुविधाएं सुदृढ़ बनाई जा रही है। इसके लिए राज्य स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर जिले में आरोग्य दिवस पर  ग्रीन चैनल की शुरुआत की गई है। जिसके माध्यम से सामुदायिक स्वास्थ्य के लिए आंगनबाड़ी केन्द्रों पर दवाओं की निर्बाध पहुंच बनाई जाएगी। सिविल सर्जन डॉ सुनील कुमार झा ने बताया आरोग्य दिवस सत्रों पर दवाओं एवं अन्य सामग्रियों की आपूर्ति श्रृंखला को सुदृढ़ करने की प्रक्रिया को सुगम बनाने के लिए सभी प्रखंडों के एएनएम एवं आरोग्य दिवस सत्रों पर दवायें पहुँचाने वाले कूरियर को प्रशिक्षण दिए गए हैं। कार्यक्रम को सफ़ल बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के साथ केयर इण्डिया की भी भूमिका अहम रही है। कूरियर को प्रतिदिन 100 रुपये का भुगतान भी किया जाएगा।


स्वास्थ्य कर्मियों को सामान ढोने की व्यवस्था से निजात मिलेगी :

केयर इंडिया के डीटीएल महेंद्र सिंह सोलंकी ने बताया जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था को बेहतर और नर्सों को सशक्त बनाने के लिए आरोग्य दिवस ग्रीन चैनल की शुरुआत की गई है। जिसके तहत एक ऐसी व्यवस्था बनाई जा रही है, जिससे नर्सों, आशा व अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को सामान ढोने की व्यवस्था से निजात मिलेगी। आरोग्य दिवस ग्रीन चैनल के तहत ऐसी व्यवस्था की जाएगी, जिससे इन कर्मियों को समय पर निर्बाध रूप से दवाइयां, स्वास्थ्य किट व संसाधन आसानी से उपलब्ध हो सकेंगे। पहले एएनएम मासिक इंडेंट तैयार कर भेजती थीं, फिर उन्हें लिस्ट के मुताबिक दवाओं की आपूर्ति की प्रक्रिया की जाती थी। जिसमें विलंब हो जाता था। दवाओं की आपूर्ति निर्बाध हो, इसलिए इसका नाम ग्रीन चैनल प्रोग्राम है। उन्होंने बताया केयर इंडिया के द्वारा एएनएम एवं कूरियर का क्षमतावर्धन किया जा रहा है। 


17 दवाइयां व 4 प्रकार की जांच किट कराई जाएंगी समय पर उपलब्ध :

डॉ झा ने बताया आरोग्य दिवस सत्र पर समय से दवा पहुंचे, इसके लिए कूरियर को एक बैग में 17 प्रकार की दवाइयां और चार प्रकार की जांच किट दी जाएगी। जांच किट में एचआईवी, हीमोग्लोबिन, सिफलिस और प्रेग्नेंसी टेस्ट की किट रहेगी। हर साइट पर कूरियर सुबह में  दवा का थैला लेकर जाएंगे। यह थैला उन्हें केयर मुहैया कराएगा। उन्होंने बताया कि शाम में लौटते समय ये एएनएम से केन्द्र पर जरूरी दवाओं की सूची लेकर लौटेंगे, ताकि तुरंत उस दवा की उपलब्धता सुनिश्चित की जा सके। 


कोविड-19 के स्टैंडर्ड प्रोटोकॉल का रखा जाएगा ख्याल :

सिविल सर्जन डॉ. सुनील कुमार झा ने बताया कोरोना बिहेवियर का पालन करते हुए स्वास्थ्य से जुड़ी गतिविधियों के दौरान भी पूरी सतर्कता बरतनी है। मास्क का प्रयोग, दो गज की दूरी और सैनिटाइजेशन का पूरा ख्याल रखना जरूरी है। कोरोना संक्रमण के प्रति सतर्कता ही इससे बचे रहने के लिए एकमात्र समाधान है। आरोग्य दिवस पर आने वाले लाभार्थियों को भी कोरोना से बचाव की जानकारी दी जानी है। कोविड-19 के अनुरूप व्यवहारों को पालन करने के लिए प्रेरित किया जायेगा।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages

फ्लोर टेस्ट के आदेश को शिवसेना ने SC में दी चुनौती, तत्काल रोक की मांग महाराष्ट्र सियासी संकट : फडनवीस ने राज्यपाल से की फ्लोर टेस्ट की मांग, एकनाथ शिंदे ने सोमवार की देर रात बुलाई आपात बैठक, उदयपुर : हत्यारोपियों के साथ कन्हैयालाल का समझौता कराने वाला पुलिसकर्मी सस्पेंड जमानत पर रिहा लालू प्रसाद की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, चारा घोटाले के इस मामले में सजा बढ़ाने की हुई मांग, सीबीआई ने कहा - कम मिली है सजा | बिहार- निकाय चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारी, मतदाता सूची के प्रकाशन को लेकर जारी किया कार्यक्रम